जब चाहें फोटो खींचे, मोबाइल तो है ही

Gul Panag

जीवन चलता जा रहा है. वक़्त रुकता नहीं. बस हमारे कैमरे कुछ पल को उतार लेते हैं, कभी भी गुनगुनाने के लिए उन तस्वीरों को देखने के लिए, देखते ही रहने के लिए… जब चाहे देखने के लिए, प्यार से, इत्मीनान से.

View