आतंकवाद क्या निंदा से ख़त्म होगा?

Britain and India condemn terror

मैनचेस्टर विस्फोट विश्व का कोई पहला आतंकवादी हमला नहीं था और ना ही यह सालों बाद किसी देश में होने वाली कोई आतंकवादी हरकत थी. पर देखा गया है कि ऐसे मामले जब होते हैं तो पीड़ित राष्ट्र के साथ पूरा विश्व खड़ा हो जाता है. प्रभावित लोगों के परिजनों के साथ वहां की सरकार भी एकजुट रहती है.

View