फिल्म समीक्षा: 1965 में प्रदर्शित वक़्त

रवि शंकर शर्मा के सदाबहार गीत ‘ऐ मेरी जोहराजबीं, तुझे मालूम नहीं’, ‘कौन आया कि निगाहों में चमक जाग उठी’ जैसे गीतों का लुत्फ़ उठाने के लिए ज़रूर देखें वक़्त.

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

स्कूलों में खेल मैदान क्यों नहीं होते?

football grounds in school

राज्यों में सरकारें आती हैं और चली जाती हैं. पाठ्यक्रम भी बदलते रहते हैं लेकिन बच्चों को खेलों के नाम पर कुछ नहीं मिलता.

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

कितनी ग्रीन होगी भारत की स्मार्ट सिटी?

Smart Green City future

बहुमंजिला इमारतों पर इकट्ठे होने वाले बारिश के पानी को विभिन्न माध्यमों के द्वारा इस्तेमाल में लाना चाहिए अथवा उस जल को भूमि के नीचे भेजने के साधन होने चाहिए.

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

क्या आप होटल बुक करने जा रहे हैं?

hotel booking tips

होटल चुनते समय उस जगह का ध्यान रखें जहां वह स्थित है. यदि सार्वजनिक परिवहन उपयोग करने वाले हैं, तो होटल का एक केंद्रीय स्थान पर होना सुविधाजनक हो सकता है.

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

कैसे बनाएं सुख दुःख का संतुलन?

जीवन में हम जितने भी कार्य करते हैं वे सभी सुख की तैयारी के रूप में करते हैं, सुख के स्वागत के लिए करते हैं. हम एक बार भी दुःख के लिए कोई तैयारी नहीं करते.

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें