बरसात में कैसे करें बाल की देखभाल

बालों को साफ सुथरा रखें. पसीने और गर्मी से बाल और स्कैल्प में गंदगी और कई इन्फेक्शन होने की संभावना रहती है.

बरसात का मौसम जितना लुभावना होता है उतना ही हमारे बाल के लिए घातक भी होता है. इस मौसम में हमारे बाल रुखड़े हो जाते हैं, जैसे मानो झाड़ू या घोड़े की पूंछ. इस समस्या से बचने के लिए हमें यह जानना ज़रूरी है कि ऐसा होता क्यों है.

सबसे बड़ी वजह है कि बाल नमी समेट नहीं पाते हैं और बाल रूखे सूखे हो जाते हैं. उस पर हम उन्हें ब्लो ड्राई, जेल, कलर और आयरन करके और भी नुकसान पहुंचाते हैं. धूप, बारिश, प्रदूषण, खाने में पोषण की कमी सब एक साथ मिलकर बाल को बहुत प्रभावित करते हैं.   

इन्फेक्शन से बाल की रक्षा करें

बाल को साफ सुथरा रखें. पसीने और गर्मी से बाल और स्कैल्प में गंदगी और कई इन्फेक्शन होने की संभावना रहती है. इसका ध्यान रखें कि आपके बाल ज्यादा देर तक गीले और गंदे न रहें. हर तीन दिन में धो लें और सुखा लें. अब ये कैसे पता करें कि सबसे अच्छा शैम्पू कौन सा है? बरसात में एक मॉइस्चराइजिंग शैम्पू लें.

ड्रायर को दो हाथ की दूरी पर रखें

बाल में तेल लगाएं और धोते समय अच्छे से कंडीशन भी करें. बाल धोने के एक घंटा पहले तेल लगाएं. जब भी ड्रायर से सुखाएं तो उसे दो हाथ की दूरी पर रखें.

ज्यादा इस्तेमाल से बाल रूखे और रुखड़े हो जाते हैं. गीले बालों में मोटे दांत का कंघा करें और सूखने पर पतले दांतों का कंघा. बारिश में हेयर ब्रश का इस्तेमाल कम से कम करें.

स्कैल्प की मालिश करें

नहाने से एक घंटा पहले नींबू का रस एक रुई में लगाकर सारे स्कैल्प पर मालिश करें. इससे मानसून में होने वाले सारे इन्फेक्शन खत्म हो जाएंगे. बालों में शैम्पू करने के बाद एक चम्मच दही और एक अंडा घोल कर बालों पर लगा लें. 20 मिनट के बाद फिर से शैम्पू कर लें.

सही शैम्पू का इस्तेमाल करें

अगर आपको खुश्की या फंगल इन्फेक्शन की शिकायत है तो निज्राल या सेल्सन जैसे मेडिकेटिड शैम्पू भी लगा सकते हैं और अगर जुएं हों तो लाइस या मेडिकर जैसे शैम्पू का इस्तेमाल भी किया जा सकता है.

इन टिप्स को भी आजमाएं

1. हेयर वॉश के बाद एक कटोरी बियर से भी धो सकते हैं. फिर पानी से धो लें. इससे बालों में शाइन आ जाएगी. 2. बालों को सूखाने के लिए एक नर्म कपड़ा जैसे मलमल का इस्तेमाल करें. इससे बाल नर्म और आसानी से सूख जाएंगे.

भारत बोल रहा है