पति-पत्नी झगड़े शांत करा रहे पोप

अब पोप फ्रांसिस पति-पत्नी के झगड़े भी शांत करा रहे हैं. पहले उन्होंने बच्चों और युवाओं को नसीहत दी और अब दम्पतियों से मुखातिब हुए हैं.

पोप मानते हैं कि घर के झगड़ों से अगर निबट लिया जाए तो दुनिया में आधे फसाद वैसे ही खत्म हो जाएंगे.

वो कहते हैं कि घर में जब पति-पत्नी के बीच झगड़े होते हैं तो उसके ठीक दूसरे दिन घर में कोल्ड वार की स्थिति हो जाती है, जो काफी खतरनाक मानसिक अवस्था है.

कोल्ड वार का परिणाम आत्मघाती और आतंकी दोनों हो सकता है.

बच्चों के सवालों का जवाब पोप की किताब में

पोप फ्रांसिस ने किशोरों और युवाओं को संबोधित करते कहा कि खुशियां किसी मोबाइल के ऐप से नहीं मिलती हैं.

दरअसल पोप फ्रांसिस यंग जेनरेशन के काफी करीब आकर उनकी दुनिया को जानना चाहते हैं, उन्हें जीवन मूल्य और संस्कार की सीख देना चाहते हैं.

यह पहले ऐसे पोप हैं जिन्होंने बच्चों के लिए किताब लिखी और अब किशोरों-युवाओं के लिए लिखेंगे.

गौरतलब है कि पोप फ्रांसिस के ऑनलाइन प्लेटफार्म ‘आस्क पोप फ्रांसिस’ में पोप युवाओं से रूबरू होते हैं, वो सवाल करते हैं और पोप उनका जवाब देते हैं.

इन्हीं सवालों और जवाबों को संकलित और संपादित कर किताब की शक्ल दी जा रही है.

इस किताब को प्रकाशित करने का मकसद युवाओं के साथ संवाद के द्वार खोलना है.

बच्चों और युवाओं के प्रति हमें हमेशा सहिष्णु और दयालु होना चाहिए. उनसे प्यार और हंस कर बातें करनी चाहिए. किसी भी तरह की क्रूरता और अपशब्द उनके जीवन को गलत दिशा में लेकर जा सकता है.
बच्चों और युवाओं के प्रति हमें हमेशा सहिष्णु और दयालु होना चाहिए. उनसे प्यार और हंस कर बातें करनी चाहिए. किसी भी तरह की क्रूरता और अपशब्द उनके जीवन को गलत दिशा में लेकर जा सकता है.

स्कोलस के सहयोग से किताब होगी प्रकाशित

‘स्कोलस’ की स्थापना पोप फ्रांसिस ने 2013 में की थी. यह एक टेक इनिशिएटिव है जिसका मकसद सामाजिक एकीकरण और सांस्कृतिक मूल्यों की पुनर्स्थापना है.

इसके जरिये पोप फ्रांसिस का दो बार गूगल हैंगआउट आयोजित किया गया है जिसमें उनके साथ हॉलीवुड स्टार रिचर्ड गेर और जार्ज क्लूनी भी थे.

पोप की नई किताब जो युवाओं को संबोधित करेगी उसका प्रकाशन स्कोलस के सहयोग से ही किया जाएगा.

किशोरों और युवाओं से पोप का विशेष लगाव

दुनिया में बच्चों और किशोरों के बीच आपसी झगड़े काफी आक्रामक होते जा रहे हैं और जब पोप ने एक मेक्सिको की लड़की के साथ हुए शारीरिक प्रताड़ना का किस्सा सुना तो वो काफी द्रवित हो उठे और उन्होंने कहा स्कोलस की ओर से एंटी-बुलीइंग कैंपेन की शुरूआत की जाए.

नोट: गलती देखें तो संपादक को सूचित करने के लिए उसे सेलेक्ट कर Ctrl+Enter दबाएं.