बीजेपी का वादा: अच्छे दिन अब 2022 में

हर वर्ष गरीबी दूर करने और गरीबों के लिए कार्यक्रमों की घोषणा होती आई है, लेकिन उनके परिणामों पर नज़र डालें तो पाएंगे कि मर्ज बढ़ता गया ज्यों ज्यों दवा की.

View

मोदी चीन दौरे से क्या-क्या लेकर आए?

Prime Minister Narendra Modi in China BRICS

समझना यह है कि अगर चीन ने भारत के साथ कोई समझौता भी किया है तो अपने आर्थिक हित और अंतरराष्ट्रीय छवि को धयान में रखकर, न कि भारत की सैन्य-शक्ति या किसी वर्ल्ड लीडर के दबाव में आकर.

View

हम हथियार पर इतना खर्च क्यों करते हैं?

Rafale Plane Deal

दुनिया संघर्ष के दलदल में है उलझी

View

बाघ की खाल में राम रहीम जैसे भेड़िये

Gurmit Ram Rahim Insan

धर्म चाहे जो भी हो, यह व्यापार का एक ऐसा साधन बन चुका है जिसने धर्मगुरुओं की परिभाषा बदल डाली है. इनके मठ में दुनिया के सारे कुकर्म हो रहे हैं फिर भी लोग अंध-भक्त बनकर समाज को तबाह कर रहे हैं.

View

भारत को कुपोषण-मुक्त कब बनाएंगे

कुपोषण

ऐसा संदेश जा रहा है कि राजनेताओं में सेवा-भाव का संचार नहीं के बराबर है और वे स्व-हित की भावना से बंधे हुए हैं. उनमें देशप्रेम कम दिखावे का देश प्रेम ज्यादा दिखता है. अगर उनमें सचमुच का देशप्रेम होता तो भूखमरी कब की मिट गई होती.

View